जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह ने गौरहरि सहित तीन को घोषित किया भूमाफिया

फर्रुखाबाद तस्वीर न्यूज़।संवाददाता। शासन की मंशा के अनुरूप जिले में भूमाफियाओं पर चल रही ताबड़तोड़ कार्रवाइयों के क्रम में जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह ने आज शातिर और दबंग भूमाफिया गौरहरि अग्रवाल सहित तीन को भूमाफिया घोषित कर इनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के निर्देेश देतेे हुए 23 करोड़ 78 लाख, 47 हजार, 5 सौ मालियत वक्फ भूमि को मुक्त कराने का हुक्म सुनाया है साथ ही गौरहरि अग्रवाल द्वारा अभिलेखों में कूच रचना कर अन्य जमीनों पर भी किये गये कब्जे के मामलेे में एसडीएम सदर को एक माह के अन्दर जांच आख्या प्रस्तुत करने के निर्देश दिये हैं।
जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह ने आज अपनी अदालत से फरमान जारी करते हुए भूमाफिया सेठ गली निवासी गौरहरि अग्रवाल, नानकचंद, विनोद चंद, विनय कुमार पुत्रगण हरिशचंद को भूमाफिया एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए आरोपी करार दिया है। अपने आदेश में जिलाधिकारी ने वक्फ भूमि की करोड़ों की मालियत वाली जमीन को अभिलेखों में कूट रचना कर वक्फ भूमि हस्तगत कर बिक्री करने के मामले को सही पाया। जिला अल्पसंख्यक अधिकारी छोटेलाल को निर्देश दिये कि सभी भूमाफियाओं के विरू( तत्काल प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराकर नियमानुसार वैधानिक कार्रवाई करायें। बता दें कि डीएम ने गौरहरि अग्रवाल द्वारा नगर की अन्य महंगी और वक्फ की जमीनों पर भी कूट रचना कर कब्जा करने के मामले को संज्ञान में लेते हुए एसडीएम सदर अनिल कुमार को एक माह के अन्दर स्वयं जांच कर सूची सहित स्पष्ट जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये हैं।
बता दें कि गौरहरि अग्रवाल ने क्रिश्चियन इंटर कालेज ग्राउंड के बगल में अवैध ढंग से प्लाटिंग की है। वहीं मदारवाड़ी स्थित काली देवी मंदिर के पीछे भी बेशकीमती जमीन पर भू खण्ड विक्रय किये हैं। इसके अलावा लाल गेट पर बेशकीमती मुख्य मार्ग स्थित वक्फ और तबेले की जमीन पर बीएस गार्डन स्थापित किया है। वहीं इससे सटा हुआ मोहम्मद नाजिम का पेट्रोल पंप और एचडीएफसी बैंक की बिल्ंिडग भी वक्फ की जमीन पर स्थापित की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *